एशिया के सबसे बड़े कुबेर बने चीन के वांग जिआनलिन
Beijing , Beijing ,  China , Asia   | अपडेटेड: Wednesday, May 6, 2015 at 08:41 am EST

चीन - डालियन वांडा ग्रुप कॉर्पोरेशन लिमिटेड के फाउंडर वांग जिआनलिन अलीबाबा फाउंडर जैक मा और हचिसन वैम्पोओ के ली का-शिंग को पीछे छोड़ कर एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं। उनकी कुल संपत्ति 2 लाख 40 हजार करोड़ रुपए आंकी गई है। वांग दुनिया के सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में भी 10वें पायदान पर आ गए हैं। अलीबाबा समूह के चेयरमैन जैक मा 34.9 बिलियन डॉलर (लगभग 2 लाख 14 हजार करोड़ रुपए) कीमत की एस्टेट के साथ एशिया के दूसरे सबसे धनी व्यक्ति बने है। उनकी कंपनी की नेट वर्थ में कल 0.71प्रतिशत की गिरावट आई थी।
ब्लूमबर्ग  न्यूज की ताज़ा रैंकिग के अनुसार, वांग की कुल संपत्ति 38.6 बिलियन डॉलर (करीब 2 लाख 40 हजार करोड़) हो गई है। मंगलवार को डालियन वांडा कमर्शियल प्रॉपर्टीज के शेयर्स में 0.46% का उछाल आने की वजह से ऐसा हुआ। इस साल की शुरुआत से लेकर अब तक उनकी कंपनी की नेट वर्थ में 50% का इजाफा हुआ है। डालियन वांडा समूह का कारोबार रिटेल, बैंक, मीडिया आउटलेट और टूरिज्म जैसे क्षेत्र में है। जिआनलिन वांडा डिपार्टमेंट स्टोर की श्रृंखला चलाते है। वे 'चाइना टाइम्स' मीडिया कंपनी के भी मालिक है।
वांग जिआनलिन 1989 में शीगैंग रेसिडेंशियल डेवलपमेंट के जनरल मैनेजर बने। वे जिआंगयिन स्थित एक फैक्ट्री के प्रमुख भी रहे। 1992 में उन्होंने डालियन वांडा ग्रुप में जनरल मैनेजर पद की कमान संभाली। 1993 में वे इसी कंपनी में सीईओ बन गए। कंपनी की संपत्ति चीन में 90 लाख तीन हजार वर्ग मीटर की इन्वेस्टमेंट प्रॉपर्टी, 58 वांडा शॉपिंग प्लाजा, 15 लग्जरी होटल्स, 68 सिनेमाघर, 57 डिपार्टमेंटल स्टोर्स, 54 कराओके सेंटर्स हैं। एएमसी थिएटर्स को खरीदने के बाद यह कंपनी दुनिया की सबसे बड़ी थिएटर कंपनी मालिक बन गई।



यह खबर आपको कैसी लगी ?  6

आपकी राय


Name Email
Please enter verification code
  
अन्य समाचार