उम्मीद से कहीं काम मिला चीन से, 100 की जगह सिर्फ 20 बिलियन डॉलर निवेश होगा
New Delhi , Delhi ,  India , Asia   | अपडेटेड: Thursday, Sep 18, 2014 at 09:53 am EST

मुकेश तिवारी - जब चीन के राष्ट्रपती शी जिनपिंग भारत की यात्रा पर कल यहाँ आये थे तो उम्मीद जताई जा रही थी कि वो भारत में करीब 100 बिलियन डॉलर का निवेश करेगा। लेकिन यात्रा के दूसरे दिन ही यह साफ हो गया कि ड्रैगन अगले पांच सैलून के दौरान सिर्फ 20 बिलियन का ही निवेश करेगा। जबकि जापान ने भारत में 35 बिलियन डॉलर के निवेश का वादा किया है।
कल गुजरात में हुए भव्य स्वागत के बाद आज शी जिनपिंग का राष्ट्रपति भवन में भी जोरदार आवभगत हुई। दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के बीच गुरुवार को वार्ता के बाद दोनों देशों के बीच दर्जन भर समझौता दस्तावेजों का आदान प्रदान हुआ।
इनमें कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए नए रूट, शंघाई की तर्ज पर मुंबई का विकास और रेलवे, स्वास्थ्य और सांस्कृतिक क्षेत्र में सहयोग शामिल हैं। चीन ने आने वाले पांच साल में भारत में 20 बिलियन डॉलर के निवेश और दो इंडस्ट्रियल पार्क बनाने का वादा किया है।
भारत और चीन के बीच हुए समझौतों पर एक नज़र:-
1. कैलाश यात्रा के लिए नए रूट पर समझौता
2. आर्थिक व्याापार हित पर भी समझौता
3. ऑडियो वीडियो मीडिया पर हुआ समझौता
4. रेलवे के आधुनिकीकरण पर समझौता
5. अंतरिक्ष क्षेत्र में सहयोग को लेकर हुआ समझौता
6. स्वास्थ्य-सांस्कृतिक क्षेत्र में सहयोग को लेकर समझौता
7. कस्टम को आसान करने को लेकर समझौता
8. शंघाई की तरह मुंबई को विकसित करने के लिए समझौता
10. परमाणु बिजली के लिए समझौता
11. दो इंडस्ट्रियल पार्क बनाएगा चीन
12. चीन खास रेल परियजोनाओं में सहयोग को भी राजी हुआ है



यह खबर आपको कैसी लगी ?  0

आपकी राय


Name Email
Please enter verification code
  
अन्य समाचार