आइपीएल 7 : पांडे की तूफानी पारी की बदौलत कोलकाता फ़िर बना चैम्पियन
Bangalore , Karnataka ,  India , Asia   | अपडेटेड: Monday, Jun 2, 2014 at 07:50 am EST

मुकेश तिवारी - केकेआर के मनीष पांडे ने किंग्स इलेवन पंजाब के रिद्धिमान साहा के शतक पर पानी फेरते हुए एक रोमांचक मैच में अपनी टीम को आईपीएल के सातवें संस्करण का विजेता बना दिया। पांडे को मैन ऑफ़ द मैच घोषित किया गया।
2012 में पहली बार खिताब जीतने वाली केकेआर की जीत के नायक बेंगलुरु के पांडे रहे जिन्होंने अपने घरेलू मैदान पर 50 गेंद पर 94 रन की बेशकीमती पारी खेली। अपनी पारी के दौरान इस 24 वर्षीय बल्लेबाज ने सात चौके और छह छक्के लगाए।
इससे पहले केकेआर ने टॉस जीतकर पंजाब को पहले बल्लेबजी का न्यौता दिया। पंजाब की शुरुआत अच्छी नहीं रही और तूफानी बल्लेबाज विरेन्द्र सहवाग और कप्तान जॉर्ज बेली 30 रनों के भीतर पैवेलियन लौट गये। इसके बाद विकेटकीपर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा ने मनन वोहरा के साथ 129 रनों की साझेदारी कर अपनी टीम को मजबूत स्कोर प्रदान किया। पंजाब ने 20 ओवरों 4 विकेट के नुकसान पर 199 रन बनाए।
साहा ने मात्र 55 गेंदों पर 115 रनों की पारी खेली। इस दौरान उन्होंने 10 चौके और 8 छक्के लगाए। वहीं वोहरा ने 6 चौकों और दो छक्कों की मदद से 52 गेंदों पर 67 रनों की पारी खेली। साहा किसी भी आईपीएल के फ़ायनल में शतक बनाने वाले पहले बल्लेबाज भी बने।
200 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी केकेआर की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही और उसके सबसे अहम बल्लेबाज और प्रतियोगिता के सर्वश्रेष्ठ स्कोरर रॉबिन उथप्पा केवल 5 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद कप्तान गौतम गंभीर ने पांडे के साथ मिलकर तेजी से रन बनाए लेकिन जब टीम का स्कोर 6 ओवर में 59 रन था तभी गंभीर 23 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद आए युसुफ पठान ने 22 गेंदों पर 36 रन ठोंकते हुए टीम की रन गती जरुरी रन गती से नीचे नहीं गिरने दी।
पठान के आउट होने के बाद पांडे ने एक छोर संभाले रखा और तेजी से रन बटोरते रहे। अंतिम ओवरों में पियुश चांवला ने अपना संयम बनाए रखा और अपनी टीम को जीत दिलाकर ही लौटे।



यह खबर आपको कैसी लगी ?  0

आपकी राय


Name Email
Please enter verification code