कान फिल्म महोत्सव में चुंबन से ईरान में विवाद
Teheran , Teheran ,  Iran , Asia   | अपडेटेड: Friday, May 23, 2014 at 09:24 am EST

जया सजल - कान फ़िल्म महोत्सव के अध्यक्ष जाइल्स जैकब के ईरानी अभिनेत्री और महोत्सव में जूरी-सदस्य लीला हातमी के गाल पर चुंबन लेने से ईरान में उठ खड़ा विवाद अब और बढ़ता जा रहा है।
हातामी ‘पाल्मे द ओर प्राइज़’ जूरी की पांच महिला सदस्यों में एक थीं। अपनी सफाई में जैकब ने कहा कि यह पश्चिम में आम शिष्टाचार है, इसलिए कोई विवाद नहीं होना चाहिए।
जैकब ने अपने ट्वीट में कहा है, "मैंने मिसेज हातामी के गाल पर चुंबन लिया था। उस वक्त वे केवल हातामी नहीं थीं, मेरे लिए वे समूची ईरानी सिनेमा की प्रतिनिधि थीं। " लेकिन ईरानी मीडिया इसे महिलाओं का अपमान बता रहा है।
फिल्मी पृष्ठभूमि वाले परिवार में जन्मीं हातामी असगर फरहादी, एक युगल दंपत्ति के अलगाव और उनके बीच बेटी को लेकर छिड़ी खींचातानी के कथानक पर बनी संवेदनशील फ़िल्म 'द सेपरेशन' में निभाई गई अपनी भूमिका से दुनिया भर में चर्चित हुई थीं। इस फिल्म को 2012 में विदेशी भाषा की फिल्म कैटेगरी में अकादमी पुरस्कार मिला था। हातामी अपने अभिनेता पति अली मोसाफ़ा के साथ ईरान में रहती हैं।
ईरानी की कट्टरपंथी युवा जर्नलिस्टों के क्लब की ओर से कहा गया है कि हातामी का जैकब की ओर हाथ बढ़ाना भी गैर परंपरागत व्यवहार था। मीडिया के मुताबिक़ हातामी ने सिर को स्कार्फ से ढंका ज़रूर था, लेकिन उनका गला ढंका हुआ नहीं था और ऐसे में उनका पहनावा और चुंबन ईरान की इस्लामिक मान्यताओं में स्वीकार नहीं है।



यह खबर आपको कैसी लगी ?  0

आपकी राय


Name Email
Please enter verification code