ऑनलाइन रिटेलर फ्लिपकार्ट ने माइक्रोसॉफ्ट, टेनसेंट और ईबे के साथ 'महागठबंधन'
Mumbai (Bombay) , Maharashtra ,  India , Asia   | अपडेटेड: Tuesday, Apr 11, 2017 at 02:16 pm EST

भारत की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स वेबसाइट फ्लिपकार्ट में सॉफ्टवेयर दिग्गज माइक्रोसॉफ्ट ने निवेश किया है.फ्लिपकार्ट ने अपने सबसे बड़े फंडिंग राउंड का ऐलान करते हुए कहा है कि वह अपनी प्रतिस्पर्धी कंपनी ईबे के इंडियन बिजनस को खरीदने जा रहा है. आपको बता दें कि फ्लिपकार्ट के 10 साल के इतिहास में पहली बार इतनी फंडिंग मिली है. ये पैसा माइक्रोसॉफ्ट, टेंनसेंट और ईबे ने लगाया है. अभी तक भारतीय स्टार्टअप पर किया जाने वाला सबसे बड़ा निवेश है. फ्लिपकार्ट अधिक-से-अधिक फंड जुटा रही है, ताकि भारत के डिजिटल ईकॉमर्स मार्केट में ऐमजॉन और अलीबाबा जैसी कंपनियों का मुकाबला किया जा सके.
सोमवार को जिस डील का ऐलान किया गया, उसके तहत ईबे के भारतीय कामकाज का विलय फ्लिपकार्ट के साथ कर दिया जाएगा.हालांकि ईबे भारत में फ्लिपकार्ट के अंतर्गत रहकर स्वतंत्र रूप से काम करता रहेगा. गौरतलब है कि फ्लिपकार्ट में निवेश करने वाली कंपनियों में टाइगर ग्लोबल , नैप्सर्स ग्रुप, ऐस्सेल पार्टनर्स और डीएसटी ग्लोबल जैसी कंपनियां शामिल हैं. जिसमें टाइगर ग्लोबल मुख्य रूप से शामिल है.
ऐसी चर्चाएं हैं कि फ्लिपकार्ट घरेलू प्रतिस्पर्धी ई-कॉमर्स कंपनी स्नैपडील को भी खरीदने की फिराक में है. वह इसके लिए जापानी कंपनी सॉफ्टबैंक के साथ बातचीत कर रही है.  स्नैपडील की प्रमोटर कंपनी जैस्पर इंफोटेक में जापानी कंपनी सबसे बड़ी शेयरधारक है. अगर यह सौदा हुआ तो देश के ई-कॉमर्स क्षेत्र का सबसे बड़ा अधिग्रहण होगा.



यह खबर आपको कैसी लगी ?  0

आपकी राय


Name Email
Please enter verification code
  
अन्य समाचार