यूएन में भारत ने उग्र प्रतिक्रिया करते हुए पाक को एक आतंकवादी राष्ट्र कहा
Vancouver , Washington ,  United States , North America   | अपडेटेड: Thursday, Sep 22, 2016 at 09:40 am EST

पकिस्तान को खुलेआम आतंकवादी राष्ट्र तथा आतंकवाद का केंद्र कहते हुए बुधवार को भारत ने संयुक्त राष्ट्र को बताया कि इस्लामाबाद द्वारा आतंकवाद को हथियार के रूप में इस्तेमाल करने की राज्य नीति एक युद्ध अपराध है.

इसके पहले पाकिस्‍तान प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने उम्‍मीद के अनुरूप संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा में कश्‍मीर का राग अलापा. अपने भाषण के अधिकांश हिस्‍से में कश्‍मीर का ही जिक्र करते रहे. उन्‍होंने कहा कि पाकिस्‍तान तो भारत के साथ बातचीत के लिए तैयार है लेकिन भारत पर ''अस्‍वीकार्य'' शर्तें लादने का आरोप लगाया. शरीफ ने कश्‍मीर में जारी हिंसा का मसला उठाते हुए हिजबुल मुजाहिदीन के मारे गए आतंकी बुरहान वानी को कश्‍मीरी आंदोलन का नेता बताया.

नवाज शरीफ के बयान का जवाब देते हुए कहा भारत के विदेश राज्यमंत्री एमजे अकबर ने कहा कि वह ''उरी हमले में पाकिस्‍तान की भूमिका'' को पूरी तरह से नकारने में तुले हैं और आतंकी बुरहान वानी का महिमामंडन आतंकवाद से पाकिस्‍तान के जुड़ाव को दर्शाता है. बुरहान वानी को नेता बताना शर्मनाक है और आतंकी की तारीफ से भारत हैरान है.

अकबर ने कहा, 'हमने एक आतंकवादी का महिमामंडन सुना. वानी हिज्बुल का घोषित कमांडर था, जिसे आतंकी समूह के तौर पर जाना जाता है. यह हैरान करने वाली बात है कि एक राष्ट्र का नेता स्व प्रचारित आतंकवादी का इस तरह के मंच पर महिमामंडन कर सकता है. यह पाकिस्तानी प्रधानमंत्री द्वारा आत्म दोषारोपण है.'

वहीं पाकिस्तान द्वारा अतिरिक्त कदम उठाते हुए बातचीत के लिए लगातार कोशिशों के नवाज शरीफ के दावे पर अकबर ने कहा, 'हमें पहला कदम ही नहीं दिखा, फिर अतिरिक्त कदम का सवाल कहां आता है?' उन्होंने साथ ही कहा कि पाकिस्तान 'अपने एक हाथ में बंदूक थामकर' बातचीत करना चाहता है. वार्ता और हिंसा दोनों साथ-साथ नहीं चल सकते.



यह खबर आपको कैसी लगी ?  0

आपकी राय


Name Email
Please enter verification code